Breaking उत्तर प्रदेश नोएडा

Online चल रहा जिस्मफरोशी का गोरखधंधा, जानिए ग्राहकों से कैसे किया जाता है संपर्क

 

नोएडा। जहां डिजीटल तकनीक के सहारे लोग तरक्की के नए रास्ते तलाशने में जुटे हुए हैं तो वहीं नोएडा में डिजीटल तकनीक का इस्तेमाल कर एस्कॉर्ट एजेंसियों की आड़ में देह व्यापार का झांसा देकर पहले ग्राहको फंसाया जाता और फिर उन्हे लूट लिया जाता। नोएडा की कोतवाली 24 पुलिस ने ऐसे गैंग का पर्दाफाश कर गैंग की महिला सरगना समेत 4 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से लूटे हुए रुपये, कार, मोबाइल फोन आदि सामान बरामद किया गया है।

 

दरअसल, पुलिस की गिरफ्त में आई गैंग की सरगना रोशनी जोकि मूल रूप से आसाम की रहने वाली है तथा दिल्ली में रह रही है। रोशनी इन्टरनेट पर मेघा एस्कोर्ट सर्विस चलाती है, जो सोशल मीडिया पर ऑनलाइन प्रमोशन कर देह व्यापार के लिए लुभावने आफ़र देती है। उसके पास ग्राहकों के मैसेज या फोन आते हैं और उस पर चैटिंग शुरू होती है। उसके उपरान्त बात करके ग्राहकों के पास लड़कियों के फोटो भेजती है। फिर ग्राहक उनमें से फोटो चुनकर वापस भेज देता है। उसके बाद रोशनी अपने साथ लड़कियों को लेकर ग्राहकों के पास पहुंच जाती है और ग्राहक को अपने साथ बैठाकर ले जाती है। इस गैंग द्वारा ग्राहकों के साथ मारपीट कर उनके रुपये तथा उनका सामान आदि छीन लिया जाता है। इस गैंग का मुख्य पेशा संगठित गिरोह बनाकर नोएडा तथा एनसीआर मे एस्कोर्ट सर्विस चलाकर देह व्यापार कर तथा ग्राहकों से लूटपाट कर अवैध धन अर्जित करना है।

 

डीसीपी राजेश एस ने बताया कि रोशनी के साथ, दिव्यांश सोनी पुत्र मथुरा प्रसाद, सरिफा खातून पत्नी रफीकुल इस्लाम, मंजू पत्नी रामअवतार, प्रमिला पत्नी धनेश्वर को थाना क्षेत्र के सेक्टर 54 खरगोश पार्क के पास से गिरफ्तार किया गया है। इसमें रोशनी और दिव्यांश सोनी पति–पत्नी हैं। ये गैंग नोएडा में पिछले डेढ़ से दो साल से ऑपरेट कर रहा है। जिन लोगों के साथ लूट की वारदात हुई उनमें से ज़्यादातर लोग शर्मिंदगी के कारण पुलिस में शिकायत नहीं करते हैं। पुलिस ने इनके कब्जे से लूटे हुए 3500 रुपये, एक वैगनार कार, 5 मोबाइल फोन आदि सामान बरामद किया है।