Breaking उत्तर प्रदेश बाराबंकी

शादी के बाद भी अपने प्रेमी से मिलती थी बहन, एक दिन भाई ने भी देखा मौका, और बहाने से उसके साथ…

 

 

बाराबंकी. आज वैलेंटाइन डे है। इस दिन प्रेमी जोड़े एक दूसरे से मोहब्बत का इजहार करते हैं। लेकिन बाराबंकी पुलिस ने वैलेंटाइन डे पर एक ऐसी खौफनाक वारदात का खुलासा किया जिसमें एक युवती की हत्या की वजह उसका ही प्रेमी बन गया। और तो और हत्या करने वाला कोई और नहीं, बल्कि उसका ही भाई था। बाराबंकी में बीते 8 महीने पहले एक युवती की हत्या के मामले में अब पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। पुलिस ने युवती के भाई को ही उसका हत्यारा बताया है और उसे जेल भेजा है।

भाई ने बहन को मारा

वारदात फतेहपुर थाना क्षेत्र की है। जहां एक भाई ने ही अपनी बहन को मौत के घाट उतार दिया और वो भी इसलिए क्योंकि वह गांव के ही एक लड़के से प्यार करती थी। भाई ने पहले लड़की को मना किया और उसके प्रेमी को भी समझाया। लेकिन जब दोनों नहीं माने तो भाई ने लड़की को जान से मार दिया और आरोप उसी के प्रेमी पर मढ़ दिया। लेकिन अब पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा करते हुए आरोपी भाई को जेल भेज दिया है।

शादी के बाद भी प्रेमी से थे संबंध

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि राजमल रैदास निवासी जसमंडा मेरी ही गांव के बबलू वर्मा के यहां काम करता है और वही रहता था। राजमहल का संबंध मेरी बहन सो गया था। हम लोगों ने उसका काफी समझाया लेकिन वह नहीं माना। साल 2018 में हम लोगों ने राजमल रैदास और उसके पिता भल्लर की पिटाई की। जिस में इलाज के दौरान पिता भल्ला की मृत्यु हो गई। इस घटना में मेरे भाई और पिता जेल चले गए। बदनामी के डर से आरोपी ने साल 2018 में अपनी बहन की शादी कर दी, लेकिन इसके बाद भी बहन राजमल से बात करती रही और मई 2020 में वह राजमल के साथ भाग गई। काफी कोशिश के बाद आठ 9 दिन बाद वह वापस आई, लेकिन वह न तो ससुराल जाने को राजी हुई और न ही ससुराल वाले उसे ले जाना चाहते थे। इसके बाद ही आरोपी भाई ने अपनी बहन को प्रेमी से मिलवाने की बात बोलकर शारदा नहर के पास गया। जहां उसे बांके से काट कर फेंक दिया और भाग निकला। इसके बाद शहर कोतवाली में राजमल को फंसाने के लिए एक वकील से अपनी बहन के अपहरण की झूठी कहानी बताकर कोर्ट से उसके खिलाफ केस दर्ज करवा दिया था। पुलिस ने आरोपी के पास से हत्या में प्रयुक्त बांका भी बरामद किया है।

आरोपी भाई को भेजा जेल

एसपी यमुना प्रसाद ने बताया कि बीते वर्ष 15 जुलाई 2020 को वादी रेहान अली निवासी ग्राम बरौली थाना फतेहपुर के खेत में एक अज्ञात महिला का शव मिला था। जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या और अपहरण का केस दर्ज किया। पुलिस ने जब जांच शुरू की तो मृतक युवती की पहचान गुलावली गांव की निवासी के रूप में ही हुई। जांच में उसका भाई रंजीत कुमार ही आरोपी निकला। जिसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।