Breaking उत्तर प्रदेश जौनपुर लखनऊ

एक ही दिन आ रहे हैं ओवैसी और अखिलेश यादव, पूर्वांचल पर होगी सबकी नजर

जौनपुर. मंगलवार को सबकी नजरें उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल पर होंगी। ऐसा पहली बार होगा जब पूर्वी उत्तर प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव  और एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का दौरा एक साथ होगा। अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री रहते ओवैसी को इस क्षेत्र में आने नहीं दिया था। अब ओवैसी की पार्टी ने 2022 यूपी विधानसभा चुनाव में उतरने का ऐलान किया है। इसकी शुरुआत पंचायत चुनाव से ही हो जाएगी।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी मंगलवार को जौनपुर पहुंचेंगे। यहां वो मल्हनी से सपा विधायक लकी यादव के पिता व पूर्व मंत्री स्व. पारसनाथ यादव की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। पारसनाथ यादव के निधन के बाद मल्हनी सीट पर उपचुनाव हुआ। उपचुनाव में सपा केवल यही एक सीट जीत पाई। यहां निर्दलीय धनंजय सिंह ने समाजवादी पार्टी को कड़ी टक्कर दी।

हैदराबाद के सांसद और एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी मंगलवार को वाराणसी आएंगे और वहां से वो जौनपुर के रास्ते आजमगढ़ में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली के घर जाएंगे। 2022 विधानसभा चुनाव से पहले भागीदारी मोर्चे के लिये छोटे दलों को जुटाने की कोशिश में जुटे पूर्व मंत्री और सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर भी उनके साथ होंगे। वो यहां कोई जनसभा या फिर कार्यकर्ता सम्मेलन में भले न आ रहे हों, बावजूद इसके उनके आने से पूर्वांचल की सियासत में हलचल मचना तय माना जा रहा है।

ओवैसी बाबतपुर हवाई अड्डे से जौनपुर के रास्ते आजमगढ़ जाएंगे। वहां सुबह करीब 10 बजे कुत्तूपुर तिराहे पर जिलाध्यक्ष इमरान बंटी के नेतृत्व में उनका स्वागत होगा। उम्मीद जताई जा रही है कि यहां करीब 5 मिनट वे पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत करेंगे। उनके गुरैनी में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों और धर्मगुरुओं के साथ मुलाकात की बात भी कही जा रही है। वहां से वो आजमगढ़ के माहुल स्थित पार्टी प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली के आवास पर जाएंगे। भोजन और नमाज के बाद वापस बाबतपुर एयरपोर्ट के लिये रवाना हो जाएंगे।