Breaking दिल्ली मध्यप्रदेश राजनीति लखनऊ

राजनीतिक जीवन में कई अहम पदों पर रहे मोतीलाल वोरा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का निधन मोतीलाल वोरा का 93 साल की उम्र में निधन हो गया है.दिल्ली के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था

कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा का सोमवार को 93 साल की उम्र में निधन हो गया। उन्होंने दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में अंतिम सांस ली। बता दें कि बीते कुछ समय से वह बीमार चल रहे थे। तीन दिन पहले ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

राजनीतिक जीवन में कई महत्वपूर्ण पदों की जिम्मेदारी संभाली
20 दिसंबर 1927 को राजस्थान के नागौर जिले में जन्मे मोतीलाल वोरा ने अपने राजनीतिक जीवन में कई महत्वपूर्ण पदों की जिम्मेदारी संभाली थी। उन्होंने कई वर्षों तक पत्रकारिता के क्षेत्र में कार्य करने के बाद 1968 में राजनीति में प्रवेश किया। मोतीलाल वोरा गांधी परिवार के बेहद करीबी थे।
वोरा दो बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे
लंबे समय तक कांग्रेस कोषाध्यक्ष रहे मोतीलाल वोरा दो बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। 13 मार्च 1985 से 13 फरवरी 1988 तक और 25 जनवरी 1989 से 9 दिसंबर 1989 तक दो बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी संभाली। इसके अलावा वह उत्तरप्रदेश के राज्यपाल भी रह चुके हैं।

अविभाजित मध्यप्रदेश की राजनीति अहम हिस्सा रहे
1968 में समाजपार्टी के सदस्य रहे वोरा अविभाजित मध्यप्रदेश की दुर्ग म्यूनिसिपल समिति के सदस्य बने।