Breaking राजनीति राज्य लखनऊ

नरेंद्र तोमर के बाद किसान आंदोलन को खत्म करने में नाकाम हुए पीएम मोदी, क्या सुप्रीम कोर्ट में ही सुलझेगा मामला

किसानों के प्रतिनिधियों की सरकार के हर मंत्री से हुई मुलाकात नाकाम ही होती दिख रही है. पहले कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने 8 पन्नों का खत लिखकर किसानों को मनाने की कोशिश की, लेकिन किसान नहीं माने. फिर पीएम मोदी ने भावुक अपील की किसानों से लेकिन वो नहीं माने. इसलिए नहीं माने, क्योंकि वो नए कृषि कानून के अनुच्छेदों का हवाला देकर ये साबित कर रहे हैं कि नए कानून से उनकी ज़मीन बंधक हो जाएगी. हालांकि सरकार किसानों की बात सुनने को राजी ही नहीं है, लिहाजा आंदोलन चलता ही जा रहा है. ऐसे में एकमात्र रास्ता सुप्रीम कोर्ट ही बचता है, जहां सुनवाई चल रही है. क्या सुप्रीम कोर्ट इस गतिरोध को सुलझा पाएगा या मामला केंद्रीय नेतृत्व के जरिए ही हल होगा, बता रहे हैं कार्यकारी संपादक विजय विद्रोही.