Breaking एटा

एटा- मुख्यमंत्री से गुहार

एटा जनपद के थाना बागवाला छेत्र की रहने वाली महिला सरिता ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री से अपने पति के अत्याचारों से निजात दिलाने की गुहार लगाई है। उसका कहना है कि उसने थाने से लेकर जिले के पुलिस और प्रशाशनिक अधिकारियों, महिला आयोग, मुख्य मंत्री, प्रधान मंत्री तक को अपनी समस्या के बारे में शिकायत की पर कही से भी उसकी सुनवाई नही हुई। उसका कहना है कि यदि उसकी सुनवाई नही हुई तो वह आत्म हत्या कर लेगी। यह महिला समाज सेवी संस्था अनिरुद्ध सोशल वेलफेयर सोसाइटी के माध्यम से मीडिया तक पहुंची थी।
वीओ 1 ये महिला सरिता एटा जनपद के बागवाला थाना छेत्र के बागवाला कस्बे की रहने वाली है और इसकी शादी हाथरस जनपद के निवासी बीजेपी नेता हरिशंकर राणा उर्फ भूरा पहलवान निवासी रमनपुरा थाना हाथरस गेट जनपद हाथरस के साथ 25 साल पहले हिन्दू रीत रिवाज के साथ सम्पन्न हुई थी। प्रार्थिया के अपने पति से दो लड़के और एक लड़की पैदा हुई। उंसके बाद पति हरिशंकर राणा उर्फ भूरा पहलवान अपनी बुआ की लड़की बुलबुल उर्फ गौरी को बिना मुझे तलाक दिए घर ले आया और अपने साथ पत्नी की तरह रखने लगा। बुलबुल के दो बच्चे भी हैं और वो अपने पति की हत्या का भी प्रयास कर चुकी है।
हरिशंकर राणा उर्फ भूरा पहलवान एक हिस्ट्री शीटर आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति है।
प्रार्थिया ने जब इसकी शिकायत की तो हरि शंकर राणा उर्फ भूरा पहलवान ने प्रार्थिया के भाई की हत्या करवा दी तथा लगभग 7 साल पूर्व मात्र पहने हुए कपड़ों में उंसके तीनो बच्चों को छीनकर प्रार्थिया को मारपीट करके घर से निकाल दिया तथा स्त्रीधन आदि भी जप्त कर लिया।
हरिशंकर राणा आये दिन प्रार्थिया को जान से मारने की धमकी देता रहता है और कहता है कि यदि तूने मेरे खिलाफ कोई शिकायत की तो मैं तेरी भी हत्या कर दूंगा या करवा दूंगा। इसको वर्तमान बीजेपी सरकार का राजनैतिक संरक्षण भी प्राप्त है और ये इस समय बीजेपी हाथरस का जिला महामंत्री भी है।
इससे पूर्व में हरी शंकर राणा ने पीड़िता को जिंदा जलाने का भी प्रयास किया था जिसमे पीड़िता कुछ जल भी गयी है।
प्रेस कॉन्फ्रेंस में पीड़िता सरिता ने समाजसेवी संस्था अनिरुद्ध सोशल वेलफेयर सोसाइटी की अध्यक्षा डॉ0 रश्मि यादव की मदद से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शाशन, प्रशाशन, मुख्य मंत्री
सभी से न्याय करने की मांग की है। न्याय न हो पाने की दशा में उसने आत्म हत्या करने की भी धमकी दी है।
उसका कहना है कि उसने हाथरस के थाना हाथरस गेट के थाना अध्यक्ष, हाथरस के जिला अधिकारी, पुलिस अधीक्षक ,मुख्य मंत्री, महिला आयोग, प्रधान मंत्री तक को लिखित में शिकायतें की है लेकिन किसी ने भी उसकी सुनवाई नही की। उसने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।