Breaking अयोध्या

राम मंदिर निर्माण को लेकर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने किया ट्वीट।

अयोध्या.श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने किया ट्वीट। ट्वीट कर राम मंदिर निर्माण के बारे में दी जानकारी। लार्सन एंड टूब्रो कंपनी को दिया गया है राम मंदिर निर्माण का कार्य।सलाहकार के रूप में टाटा कंसल्टेंसी इंजीनियर को दी गई है जिम्मेदारी।संपूर्ण मंदिर बनेगा पत्थरों से। तीन मंजिला होगा मंदिर। प्रत्येक मंजिल की ऊंचाई होगी 20 फ़ीट। मंदिर की लंबाई 360 फीट। चौड़ाई 235 फीट होगी। भूतल से 16.5 फीट ऊंचा होगा मंदिर का फर्श। भूतल से गर्भ गृह के शिखर की ऊंचाई 161 फीट होगी धरती के नीचे 200 फीट गहराई तक मृदा परीक्षण व भविष्य के लिए संभावित भूकंप के प्रभाव का अध्ययन किया जा रहा है। जमीन के नीचे 200 फ़ीट तक भुरभुरी बालू पाई गई है। गर्भ गृह के पश्चिम में कुछ दूरी पर सरयू नदी का प्रवाह है।इस भौगोलिक परिस्थितियों में 1000 वर्षों के आयु वाले पत्थरो के मंदिर का भार सहन कर सकने वाली मजबूत और टिकाऊ नीव की ड्राइंग पर आईआईटी मुंबई आईआईटी दिल्ली आईआईटी चेन्नई आईआईटी गुवाहाटी व केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान रुड़की के इंजीनियर आपस में कर रहे परामर्श।शीघ्र ही नीव का प्रारूप तैयार जल्द ही निर्माण कार्य होगा प्रारंभ। श्री राम जन्म भूमि मंदिर की ऐतिहासिक सच्चाई से अवगत कराने के लिए देश के प्रत्येक राज्य के कोने कोने में घर-घर जाकर करेंगे संपर्क। अरुणाचल प्रदेश नागालैंड अंडमान निकोबार रण कच्छ त्रिपुरा में कराएंगे ऐतिहासिक सच्चाई से रूबरू। लाखों कार्यकर्ता गांव और मोहल्लों में जाएंगे तो स्वेच्छा से कुछ ना कुछ निधि लोग करेंगे समर्पण। पारदर्शिता बनाए रखने के लिए 10 रुपये सौ रुपए व 1000 रुपये के बनाए गए हैं कूपन व रसीदे। करोड़ों घरों में भगवान के मन्दिर चित्र पहुंचेगा। जनसंपर्क का कार्य मकर संक्रांति से होगा प्रारंभ।